बहन के साथ है जीवन के आनंद | Hindi Sex Stories

बहन के साथ है जीवन के आनंद

बहन के साथ सेक्स करना बुरा नहीं है अगर आप दोनों अपनी मर्जी से करते हैं क्योंकि हर इन्सान को खुश रहने का हक़ है।

मेरा नाम अमित है, मैं इंदौर का रहने वाला हूँ और मैं २० साल का हूँ। मैंने इतनी सारी कहानियाँ पढ़ी अन्तर्वासना पर तो मेरा भी मन किया कि मैं भी कुछ इन सब कहानियों से अनुभव ले कर कुछ करूँ क्योंकि मैंने तब तक सेक्स नहीं किया था किसी के साथ भी ! हालांकि इच्छा बहुत होती थी। पर मौका नहीं मिलता था और मैं जिस स्कूल में पढ़ता था वहाँ लड़कियाँ नहीं थी। जब मैंने कहानियाँ पढ़ी तो इसमें बहुत सी कहानियाँ सगे भाई-बहन की भी थी। पहले तो मैं यह सोचता था कि क्या ऐसा संभव है? पर ये सब कहानियाँ पढ़कर यकीं आने लगा और मैंने सोचा कि क्यों ना मैं भी कोशिश करूँ !

मेरी बहन प्रियंका मुझसे ३ साल बड़ी है और वो बहुत सेक्सी है, 38-28-36 रंग गोरा। उसकी शादी नहीं हुई है। उससे मैं कभी भी फ्रैंक भी नहीं रहा था।

छः महीने पुरानी बात है। वो कभी रात को मेरे पास भी सो जाया करती थी तो मैंने एक दिन कोशिश की। जब वो रात को गहरी नींद में सो रही थी, उसने २ पीस वाला गाऊन पहना था और अन्दर ब्रा भी पहनी थी। रात के २ बजे की बात है, मैं उठा और कमरे की लाइट जला दी। प्रियंका सो रही थी, उसके वक्ष साफ दिख रहे थे। मुझे थोड़ा सा डर भी लग रहा था कि वो मुझे देख ना ले पर मैंने हिम्मत से उसके स्तन पर हाथ रखा, पहले गाऊन के ऊपर रखा। सच में ऐसा लग रहा था कि किसी गुब्बारे पे हाथ रख दिया हो। फिर मैंने उसके गाऊन के अन्दर हाथ से रखा। सच में ऐसा मज़ा आया कि जैसे मैं जन्नत से भी बहुत अच्छी जगह पे आ गया हूँ।

मैंने धीरे-धीरे उसके स्तन दबाए और फिर दोनों हाथ से दोनों स्तन को दबाने लगा। सच में बहुत अच्छा लग रहा था मुझे। फिर मैंने उसके गुलाबी होठों को चूमा। आहा ! इतना मज़ा आया। फिर उसकी गर्दन पर चूमा। इतने में मुझे लगा कि शायद वो जाग गई है और सोने का नाटक कर रही है। मुझे इससे और हिम्मत मिल गई। मैंने उसका गाऊन नीचे से ऊपर किया, उसकी गोरी और चिकनी टांगें मुझे दिख रही थी।

(TBC)…

मनपसंद कहानियाँ सर्च करें

कहानी भेजिए

कहानियों का कलेक्शन