अपने पड़ोसिन नैन्सी को पटा कर उसकी जबर्दस्त चुदाई की | Hindi Sex Stories

अपने पड़ोसिन नैन्सी को पटा कर उसकी जबर्दस्त चुदाई की

मेरा नाम श्याम है, मैं गुजरात में बड़ोदरा का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र 28 साल है।

मैं शादीशुदा हूँ.. मेरा एक बेटा भी है, जिसकी उम्र डेढ़ साल है।

मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। मैं सभी अन्तर्वासना के पाठकों का धन्यवाद करता चाहता हूँ।

मैं पहली बार कहानी लिख रहा हूँ मुझसे यदि कोई भूल रह जाए तो… मैं क्षमा चाहता हूँ।

मेरा कद 5.4 फुट है। वैसे तो मैं औसत सा दिखने वाला लड़का हूँ.. पर मेरा लौड़ा 6 इंच लंबा और करीबन पौने दो इंच व्यास वाला है। अभी भी मेरा सुपारा बाहर नहीं आया है।

मैं एक अपार्टमेंट में तीसरे माले पर एक फ्लैट में रहता हूँ।
मेरे साथ वाले फ्लैट में एक मेरी ही उम्र की शादीशुदा औरत रहती है।
उसका नाम नैन्सी है।
उसका फिगर 34-28-36 के लगभग है।
उसका दस साल का एक बेटा भी है।

नैन्सी इन्दौर की रहने वाली है और उसने लव-मैरिज की है।

उसका पति बिजनेस करता है.. वो हर रोज़ दारू पी कर आता है और कभी-कभी नैन्सी को मारता भी है।

नैन्सी नए ख़यालात की औरत है.. इसलिए वो सुबह-सुबह घुटनों तक का बरमूडा और जर्सी पहन कर अपने बेटे को बाहर छोड़ने आती है।
उस पोशाक में उसको देख कर अच्छे-अच्छे का लौड़ा सलामी देने लगता है।

नैन्सी हमारे घर पर अक्सर कुछ ना कुछ काम के लिए आती रहती है।
जैसे कभी चीनी लेने.. तो कभी चाय पत्ती माँगने..

वो मुझे अजीब सी नज़रों से देखती है लेकिन मैंने कभी ध्यान नहीं दिया।

एक दिन मैं बनियान में ही बाहर आया.. उस समय वो भी बाहर खड़ी थी।

उसने मुझे ऐसी मादक नज़रों से देखा.. उसी समय मेरी और उसकी नज़र टकरा गईं और वो शर्मा कर अन्दर चली गई।

तभी मैंने तय किया कि नैन्सी को जरूर चोदूँगा।

एक दिन वो मेरे बेटे को अपनी गोद में लेकर उसके साथ खेल रही थी।

तभी मेरी बीवी ने मुझसे बोला- अपने बेटे को पड़ोस में से ले आओ।

मैं नैन्सी के हाथों में से अपने बेटे को ले रहा था.. तभी मैंने जानबूझ कर उसके उरोजों को हल्के से दबा दिया।

वो कुछ नहीं बोली और उसने शर्मा कर नज़रें झुका लीं।

तभी से मेरी हिम्मत और बढ़ गई।

फिर.. मैं उसे रोज़ देखने लगा और उसको कैसे चोदूँ.. इसके बारे में सोचने लगा।

एक दिन अपार्टमेंट में किसी की शादी थी और मेरी पत्नी ने मुझसे बोला- आप ऑफिस से घर आकर फ्रेश होकर सीधे शादी में ही आ जाईएगा.. मैं पहले ही दूसरे पड़ोस की औरतों के साथ चली जाऊँगी।

मैं शाम को ऑफिस से घर आया तो देखा कि मेरे माले पर नैन्सी का घर ही खुला था.. बाकी सब लोग शादी में चले गए थे।

मैं अपना घर खोल कर टीवी चालू करके देखने लगा.. तो इतने में नैन्सी आई और बोली- मेरे घर में पानी नहीं आ रहा है.. तो मैं क्या आपका बाथरूम इस्तेमाल कर सकती हूँ?

हमारे अपार्टमेंट में पानी दो ही समय आता है.. एक सुबह और शाम या रात.. पर पानी आने का कोई वक्त तय नहीं होता था।

हमारे वहाँ मैंने एक 1000 लीटर की पानी की टंकी लगा रखी है.. इसलिए मेरे घर में पूरा दिन पानी रहता है।

उसने मुझे मेरा बाथरूम इस्तेमाल करने के लिए पूछा।

मुझे और चाहिए भी क्या… एक खूबसूरत माल मेरे बाथरूम में नहाने के लिए पूछ रही हो तो मैं तो क्या दुनिया का कोई भी आदमी मना नहीं कर सकता।

फिर वो अपना तौलिया और कपड़े लेकर वापस आ गई।

वो बाथरूम में नहाने चली गई और मैं टीवी देखने लगा। थोड़ी देर में उसने मुझे आवाज़ लगाई और बुलाया।

मैं गया तो उसने मुझसे बोला- जरा देखिए… पानी नहीं आ रहा है।

मैंने देखा तो ऊपर से पानी का वॉल्व बंद था।

मैं उसे चालू करने बाथरूम में अन्दर गया तो वो एक तरफ को हो गई।

जैसे ही वो एक तरफ को हटने लगी.. तो उसका पैर साबुन पर पड़ गया और वो फिसलने लगी।

मैंने उसे पकड़ लिया… फिर भी उसके पैर में मोच आ गई।

मैंने उसको गोद में उठा कर बिस्तर पर लेटाया और मलहम लेने गया।

उसने उस वक्त क

Related Posts

मेरी दोस्त की चुदाई और चूत चुताडा १०० ग्राम

मेरी उम्र के नौजवानों चूत में लंड घुसाना ए दीवानों | ये मेरा कहना उन लोगों से हैं जो अभी तक कुंवारे है और चूत की तलाश में बस मुठ मारते रहते हैं | दोस्तों मुठ आप मार सकते हो इसमें कोई दिक्कत नहीं है पर इतना भी मारता की चूत के सामने आते ही […]

Read More

बचपन की यादे और जवानी में चुदाई

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? उम्मीद करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और अपनी चुदाई भरी जिन्दगी में खुश होंगे | मेरा नाम जाग्रति है और मैं हैदराबाद की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र अभी 19 साल है और मैं दिखने में सुन्दर हूँ | मेरा भरा बदन मुझे और भी […]

Read More

मनपसंद कहानियाँ सर्च करें

कहानी भेजिए