अपने गर्लफ्रेंड की पहली चुदाई की कहानी अमित शर्मा की जुबानी


दोस्तो, मैं अमित शर्मा हूँ जयपुर से!
एक बार फिर आपसे मिलने आया हूँ अपनी एक नई कहानी के साथ।

जैसे कि आप सब लोग जानते हैं मेरे बारे में कि मेरी हाइट 5’6″ और मेरे लण्ड का साइज़ 6.5″ है।
तो अब की बार मुझे बहुत सारे मेल्स तो मिले।
यह कहानी मैं अपनी गर्लफ्रेंड की मर्ज़ी से ही लिख रहा हूँ।

तो आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि मैंने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ पहला सेक्स कैसे किया।
यह मेरी लाइफ का पहला सेक्स था। उस टाइम मैंने पहली बार सेक्स किया था और वो भी एकदम सील पैक थी।
वो एकदम गोरी और मस्त फिगर वाली लड़की थी।

loading...

उसको पटाने के लिए मैंने बहुत पापड़ बेले तब जाकर वो मुझसे सेट हुई।

मैं उससे जयपुर में ही मिला था, वो मेरे घर के सामने वाले घर में रहती थी जहाँ मैं किराये पर रहता था।

वो स्कूल में पढ़ती थी। वो जब भी स्कूल जाती चाहे सर्दी हो या गर्मी, मैं हमेशा उसे देखता था।
और जब भी वो बाहर दिखती तो मैं उसे देखने के लिए चला जाता।

मैंने कुछ दिन ऐसे ही देखने में निकाल दिए… लगभग एक साल…
तो एक दिन मैंने उसे हिम्मत करके बोल दिया कि मैं उसे पसंद करता हूँ और दोस्ती करना चाहता हूँ।

उसने हाथों हाथ हाँ बोल दिया जो मैंने कभी सोचा भी नहीं था।

फिर कुछ दिन तक हम बातें ऐसे ही घर से बाहर मिलते रहे।

फिर मैंने उसे एक मोबाइल लेकर दे दिया जिससे हम पूरी पूरी रात बात किया करते थे।

धीरे धीरे हमारी बातें सेक्स की बातों की ओर जाने लगी, हमने मोबाइल पर सेक्स भी किया।

एक दिन उसने बताया कि उसके घर वाले दो दिन के लिए किसी शादी में जा रहे है और घर में सिर्फ उसकी दादी होगी।

उसकी दादी को अच्छे से सुनाई नहीं देता था।

तो मैं बहुत ज्यादा खुश हो गया, फिर अपने आप को थोड़ा कण्ट्रोल किया और फिर आराम से पूछा- जान, क्या प्रोग्राम है?

पहले उसने कुछ भी करने से मना किया फिर मैंने जोर दिया तो उसने भी हाँ बोल दी।

कुछ दिन बाद उसके मम्मी पापा के जाने के बाद हमने रात को मिलने का प्रोग्राम बनाया।
अब उसके घर में वो और उसकी दादी थी। उसके मम्मी पापा के लगभग 9 बजे गये और उसका रात को 11 बजे मेरे पास फ़ोन आ गया, बोली- आ जाओ।

अपना गेट धीरे से खोल कर वो बाहर आई और मैं भी धीरे धीरे उसके कमरे में चला गया।

हमने दरवाजा बंद किया और फिर लाइट जला ली।

लाइट जलाते ही मैंने उसे देखा तो मेरे होश उड़ गए।

वो एकदम मस्त आइटम लग रही थी, उसने लाल रंग का गाउन पहन रखा था और उसके बूब्स बाहर निकलने को तैयार हो रहे थे।
मुझसे रहा नहीं गया, मैं उसके पास गया और उसको गले से लगा लिया, सीधा डबलबेड पर पटक दिया और जोर जोर से किस करने लगा।

वो ‘अह्ह अह्ह ह्ह अमित अमित’ करने लगी।

मैंने उसके गाल चूम चूम कर एकदम लाल कर दिया और वो भी मुझे बुरी तरह चूम रही थी।

मेरा लंड मेरी पेंट फाड़ने को तैयार हो रहा था और अब मैंने उसका गाउन भी उतार दिया।

यह मेरा पहली बार था तो मुझे बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा था।

गाउन उतारते ही वो मेरे सामने गुलाबी रंग की ब्रा और पेंटी में थी।

मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स के साथ खेलना चालू कर दिया।

कुछ देर बाद वो पूरी तरह से मदहोश हो गई और बड़बड़ाने लगी- अह्ह्ह ओह्ह्ह्ह… कम ऑन अमित… मेरे बूब्स को खा जाओ आज…
अब मैंने देर न करते हुए उन कपड़ों को भी उससे अलग कर दिया।
उसके गोरे गोरे बूब्स को जोर जोर से चूसने लगा।

बूब्स देखते ही मेरा दिमाग ख़राब हो गया और मैंने उसे और भी बुरी तरह से दबाना चालू कर दिया।

वो पूरी तरह से पागल हो गई थी और मुझे बोली- अमित यार… यह क्या हो रहा है? मैं कहाँ हूँ, कुछ भी समझ नहीं आ रहा !

मेरा भी पहला सेक्स था तो कुछ ऐसी ही कंडीशन मेरी भी थी।

अब नंबर था उसकी पेंटी का… मैंने देर करते हुए उसकी कच्छी भी उतार दी और उसके उतरते ही मेरे सामने उसकी गुलाबी चूत आ गई। एकदम नई नवेली चूत जिस पर अभी तक बाल भी नहीं थे।

हल्के हल्के रेशमी बालों वाली चूत देखते ही मैंने अपना कण्ट्रोल खो दिया और झट से अपना मुंह उसकी चूत पर रख कर जोर जोर से चाटने लगा।

वो तो जैसे यहाँ थी ही नहीं…
कुछ देर बाद मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी तो उसे दर्द हुआ क्योंकि उसने भी मेरी तरह पहले कभी सेक्स नहीं किया था।

लेकिन मैंने पहले काफी ब्लू फिल्म्स देखी थी तो मुझे थोड़ा आईडिया था कि कैसे क्या करना है। मैं अपनी ज़िन्दगी का पहला सेक्स करने जा रहा था।

मैंने उसकी चूत से उंगली निकली और उसकी चूत को चाटना शुरु किया।

वो मेरे सर को अपनी चूत के ऊपर दबाने लगी- और जोर जोर से… अह्ह्ह्ह उईईईइ अह्ह्हह…

और बोलने लगी- प्लीज अमित मुझे चोद दो… मेरी चूत में लंड डाल दो… नहीं तो मैं मर जाऊँगी।

मैंने भी देर न करते हुए उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया जिससे उसकी चूत मेरे सामने आ गई और लंड को उसकी चूत के ऊपर रख कर फिराने लगा।

तो वो बोलने लगी- प्लीज डाल दो… अब मत तरसाओ।

तो मैंने अपना लंड उसकी चूत के ऊपर रखा और एक झटका मारा तो मेरा लंड उसकी फिसल गया।

तो मैंने थोड़ा सा तेल लिया और उसकी चूत और मेरे लंड पर अच्छे से लगाया।

फिर एक ही झटके में मेरा लंड की टोपी उसकी चूत में चली गई और वो जोर जोर से चिल्लाने लगी तो मैंने उसके मुँह पर हाथ रखा और उसके बूब्स चूसने लगा।

वो थोड़ी देर में नार्मल हो गई।

फिर मैंने कुछ देर बाद पूरा जोर लगा कर एक और झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ते हुए उसके अन्दर चला गया।
और वो तो जैसे बेहोश सी हो गई।

मैं कुछ देर उसके ऊपर ऐसे ही पड़ा रहा।
जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं अपना लंड आगे पीछे करने लगा, वो भी अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी और उसका दर्द एकदम गायब ही हो गया।

और अब तो वो जैसे पागल सी हो गई, जोर जोर से मुझे चूमने लगी और बोलने लगी- अमित, आज मेरी चूत को फाड़ दो… यह मुझे बहुत हे परेशां करती है।

अब उसका दर्द तो जैसे कहीं गायब ही हो गया। वो बहुत ज्यादा जोश में थी, इस चक्कर में वो इस दौरान दो बार झड़ गई।

अब मैं भी झड़ने वाला था।

लगभग 15 मिनट और चोदने के बाद मैंने अपना उसकी चूत से बाहर निकला और सारा माल उसके पेट पर डाल दिया।

बाद में हमने देखा तो पूरी चादर खून से भर गई थी।

तो उसने बोला- अमित, इतना खून निकल गया लेकिन कुछ पता ही नहीं चल रहा?

तो मैंने उसे बोला- जान, यही तो सेक्स की पॉवर है।

और मैं फिर से उसके ऊपर चढ़ गया।

तो दोस्तो, यह थी मेरी लाइफ के पहले सेक्स की पहली स्टोरी !

आप लोगों को कैसी लगी, मुझे आपके मेल्स का इंतज़ार रहेगा।

21,892 total views, 13 views today